जिलाधिकारी तथा प्रधान न्यायिक दंडाधिकारी, तथा पुलिस अधीक्षक के प्रयास के बाद पर्यवेक्षण गृह से भागे 4 बंदियों में एक ने किया आत्मसमर्पण

नालंदा विविध
जनादेश न्यूज़ नालंदा
बिहारशरीफ:पिछले रविवार-सोमवार की रात्रि जिला मुख्यालय बिहारशरीफ स्थित पर्यवेक्षण गृह में प्रवासीत चार बच्चे बाथरूम की खिड़की कारण काटकर फरार हो गए थे और इस मामले को संज्ञान में लेते हुए नालंदा जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने अविलंब कार्रवाई करते हुए उप विकास आयुक्त के नेतृत्व में एक जांच दल का गठन किया. प्रथम दृष्टया जांच के दौरान लापरवाही को देखते हुए मंगलवार को पर्यवेक्षण गृह के अधीक्षक समेत 8 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. वहीं बच्चों की बरामदगी के लिए नालंदा जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह तथा प्रधान न्यायिक दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र तथा नालंदा पुलिस अधीक्षक लगातार प्रयासरत है. बाल संरक्षण इकाई के अधीक्षक बृजेश मिश्रा ने बताया कि फरार बच्चों के अभिभावकों को बुलाकर समझाया बुझाया गया तथा उन्हें बताया गया कि अपने बच्चों को जल्द से जल्द टीम को सुपुर्द कर दें उनके साथ किसी तरह का कोई दुर्व्यवहार तथा डांट फटकार नहीं किया जाएगा.
जिलाधिकारी और प्रधान न्यायिक दंडाधिकारी के बेहतर प्रयास से एक अभिभावक ने अपने बच्चे को अधिवक्ता के साथ आकर किशोर न्याय परिषद में आत्म समर्पण कराया है. आत्मसमर्पण के बाद प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र ने उसे न्यायिक हिरासत में पर्यवेक्षण गृह भेज दिया. बाल बंदी चोरी के आरोप में पर्यवेक्षण गृह में रह रहा था वही तीन अन्य बंदी अभी भी फरार है उसकी बरामदगी में पुलिस लगातार दबिश बना रही है. जल्द ही वह तीनों को भी नालंदा पुलिस तलाश कर लेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *