जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में जिला आपूर्ति टास्क फोर्स की बैठक

नालंदा
जनादेश न्यूज़ नालंदा
जिला पदाधिकारी योगेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में आज हरदेव भवन सभागार में जिला आपूर्ति टास्क फोर्स की बैठक आहुत की गई ।
सभी LPG वितरकों को उपभोक्ताओं को निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत सिलिंडर उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया।जिला पदाधिकारी ने स्पष्ट रुप से कहा कि जिला के किसी भी उपभोक्ता को रसोई गैस को लेकर किसी भी तरह की समस्या नहीं होनी चाहिए। ससमय आपूर्ति के लिये वितरक सम्बंधित कंपनी से समन्वय स्थापित करें।किसी भी तरह की समस्या होगी तो सम्बंधित वितरक के विरूद्घ कार्रवाई की जायगी।
सभी वितरक प्रतिदिन का दर एजेन्सी ऑफ़िस/गोदाम में अनिवार्य रूप से प्रदर्शित करेंगे।सभी मार्केटिंग ऑफिसर को सभी गैस वितरकों की जाँच प्रत्येक माह सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया।

जन वितरण प्रणाली के लिए अक्टूबर माह में अभी तक लगभग 20 प्रतिशत खाद्यान्न ही SFC के गोदाम से भेजा गया है।जिला पदाधिकारी ने इसपर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए अविलंब शत प्रतिशत खाद्यान्न का डिस्पैच सुनिश्चित करने को कहा। परबलपुर को छोड़कर शेष प्रखंडों के AGM के वेतन निकासी पर रोक लगाने का निदेश दिया गया।उठाव में तेजी लाने के लिए आवश्यकतानुसार ट्रांसपोर्टर से वाहन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का निर्देश डीएम एसएफसी को दिया गया। डीएम एसएफसी को प्रतिदिन के उठाव का रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया गया। सभी अनुमंडल पदाधिकारी को सभी गोदाम का निरीक्षण कर उठाव सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया।
राशन कार्ड धारियों की पूर्व सूची से सभी अपात्र एवं मृत लोगों का राशन कार्ड रद्द करने का निर्देश दिया गया। इस संबंध में सभी मार्केटिंग ऑफिसर एवं अनुमंडल पदाधिकारी को त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा गया।
सभी राशन कार्ड धारियों का आधार लिंकेज किया जा रहा है। अब तक लगभग 72% कार्ड धारियों का आधार लिंकेज किया गया है। शेष राशन कार्ड धारियों का आधार लिंकेज त्वरित गति से सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। इस कार्य में शिथिलता बरतने वाले मार्केटिंग ऑफिसर के विरुद्ध कार्रवाई करने का निर्देश सभी अनुमंडल पदाधिकारी को दिया गया।
सभी जन वितरण प्रणाली की दुकानों में ई पौश मशीन के माध्यम से खाद्यान्न का वितरण किया जाना है। विगत माह लगभग 61% खाद्यान्न का वितरण ई पौश मशीन के माध्यम से किया गया। जिला पदाधिकारी ने इस माह तक शत प्रतिशत दुकानों में ई पौश मशीन का संस्थापन सुनिश्चित करा कर खाद्यान्न का वितरण सुनिश्चित कराने का निर्देश जिला आपूर्ति पदाधिकारी को दिया।
सभी पंचायतों में पंचायत आपूर्ति अनुश्रवण समिति की प्रत्येक माह बैठक सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। सभी अनुमंडल पदाधिकारी को आपूर्ति संबंधी उपलब्धि के आधार पर प्रत्येक प्रखंड की रैंकिंग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।
जिला में आरटीपीएस के माध्यम से नए राशन कार्ड के आवेदनों को प्रॉसेस किया जा रहा है। अब तक लगभग 75% प्राप्त आवेदनों का राशन कार्ड निर्गत किया जा चुका है। जिला पदाधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा कि निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत राशन कार्ड के आवेदनों को निष्पादित नहीं करने वाले पदाधिकारियों/ कर्मियों के विरुद्ध आरटीपीएस के प्रावधान के अनुसार आर्थिक दंड अधिरोपित किया जायेगा।
पीडीएस के निरीक्षण की समीक्षा के क्रम में उपलब्धि पर जिला पदाधिकारी ने असंतोष व्यक्त किया। सभी मार्केटिंग ऑफिसर को शत प्रतिशत दुकानों का निरीक्षण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।
मध्याह्न भोजन के संचालन के संदर्भ में सभी बीआरपी को प्रत्येक माह कम से कम 50% विद्यालयों का निरीक्षण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया तथा निरीक्षण में पाई गई कमियों के आधार पर दोषी पाए गए विद्यालयों के विरुद्ध त्वरित रिकवरी एवं कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा गया । विगत माह में जिन जिन बीआरपी द्वारा 25% से कम विद्यालयों का निरीक्षण किया गया, उनका वेतन रोकने का निर्देश दिया गया।
बैठक में सभी अनुमंडल पदाधिकारी, डीएम एसएफसी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, मार्केटिंग ऑफिसर, एल पी जी गैस वितरक, एसएफसी के गोदाम के एजीएम, बीआरपी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।