प्रेम प्रसंग के दौरान लडकी को झांसा देकर बुलाया और जमुई स्टेशन पर कर दी हत्या

अपराध जमुई
जनादेश न्यूज़ जमुई
बरहट (धीरज कुमार सिंह ) : प्रखंड के मलयपुर थाना क्षेत्र में जमुई स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर एक अंतिम छोर याड के दिवार के आड में पश्चिम साइड में बरूअट्टा निवासी बेचन मंडल की 20 वर्षीय पुत्री काजल कुमारी के लाश मिलने पर यात्रियों में दहशत फैल गया।
लाश होने की सूचना जीआरपी दारोगा श्री कांत रजक को सुबह चार बजे के करीब मिलते ही घटना स्थल पर पहुँच कर निरिक्षण किया और लडकी के पर्स से मिली आईडी पर परिजनों को सूचना दी गई।सूचना मिलते ही मृतक के माता गीता देवी, पिता बेचन मंडल एवं अन्य लोग जमुई स्टेशन पहुँच कर बेटी की लाश को देखते ही दहाड़ मार कर रोने लगी। इसी बीच में जीआरपी दारोगा श्री कांत रजक,एएसआई दीपक कुमार लाश को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल जमुई भेज दिया।
स्टेशन पर उपस्थित कुलियों ने बताया कि फुलवरिया निवासी स्वर्गीय मुन्ना रावत (कार्तिक रावत )का पुत्र कुंदन रावत सुबह तीन से चार बजे के करीब जमुई स्टेशन से ट्रेन पकड़ कर जाते हुए देखा गया है।
वही मृतक की माता गीता देवी ने बताया कि कुंदन रावत ने फोन करके मेरी बेटी को जमुई बाजार बुलाया कि हम भी एटीएम से पैसा निकालने आ रहे हैं सो तुम भी बाजार आ जाओ।मेरी बेटी कर्मा की थी और उसी के लिए फल बगैरह लाने को जमुई बाजार निकली थी। और दोनों का मिलन भी हुआ।बेटी जब समय पर घर नहीं पहुँची तो उसके मोबाईल नंबर पर फोन लगाया तो उसका मोबाइल नंबर स्वीच आफ बताया गया।लडका कुंदन रावत के मोबाइल नंबर पर संम्पर्क स्थापित किया लेकिन बार-बार रिंग होने के बावजूद भी लडका फोन नहीं उठाया।तब हम अपने पति बेचन मंडल के साथ टेम्पू रिजर्व कर फुलवरिया निकल पडी।फुलवरिया जाने के क्रम में लडका कुंदन रावत की मां सुमा देवी ने फोन करके बताया कि तुम लोग जो चाह रहे हो, वह कदापि नहीं होगा।

ज्ञात हो कि मृतक के बहन की शादी फुलवरिया निवासी स्वर्गीय कार्तिक रावत के पुत्र धर्मेन्द्र कुमार से हुआ था और कुंदन रावत को भाभी की बहन काजल से प्रेम हो गया और ये प्रेम अब रिस्तों में बदलने को था।इस बीच लडका कुंदन रावत को रेलवे में ग्रुप डी में नौकरी लग गयी।नौकरी के समय भी घुस के लिए 20,000/- रूपया नगदी दिया था।नौकरी हो जाने के बाद से लडका के माता-पिता इस रिश्ते से नाराज थे।वे लोग कुंदन की शादी कहीं ओर करना चाहते थे।इसलिये हमारी बेटी को रास्ता से हटाने के लिए ये घिनौने हरकतें लडका कुंदन रावत पिता मुन्ना रावत,सुमा देवी,राखी देवी,पिंटु कुमार,शुकर कुमार,त्रिलोकी रावत सभी का पिता स्व0 मुन्ना रावत,बडी बहन खुशबू देवी पति संजय मंडल और शुकर रावत की पत्नी जिसका नाम ना मालूम एवं अन्य के द्वारा मेरी बेटी की हत्या कर दिया।उपर्युक्त लोगों के विरुद्ध मलयपुर जीआरपी थाना में मृतक की माता गीता देवी ने हत्या का मामला दर्ज किया है।
ज्ञात हो कि फुलवरिया निवासी सुमा देवी दो शादी की थी।पहला शादी कार्तिक रावत से की थी।जिससे चार लडका और एक लडकी उत्पन्न हुआ।लडका का नाम शुकर रावत,पिंटु रावत,धर्मेन्द्र रावत और कुंदन रावत है,लडकी का नाम खुशबू देवी पति संजय मंडल है ।और कार्तिक रावत के मृत्यु हो जाने के पश्चात दुसरा शादी सुमा देवी ने मुन्ना रावत से की जिससे दो लडका और एक लडकी उत्पन्न हुआ,लडका का नाम त्रिलोकी रावत व दीपक कुमार है,जबकि लडकी का नाम सावित्री कुमारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *