मांझी के बाद अब कांग्रेस ने भी खींचा राजद से अपना हाथ , उपचुनाव में पांच सीटों पर अपने हाथों से खुद ड्राइविंग करेगा कांग्रेस

बिहार राजनीति
जनादेश न्यूज़ बिहार
पटना : बिहार में विधानसभा की 5 और लोकसभा की 1 सीटों पर उपचुनाव होना है जिसको लेकर महागठबंधन में टूट की आहट सामने आई है. शायद तेजस्वी के नेतृत्व में लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद महागठबंधन के सभी नेता अपने आपको बिहार में चेहरा मान रहे हैं और अपने ही नेतृत्व में सियासी अखाड़े में उतरने को तैयार हैं.बिहार में महागठबंधन बिखराव की कगार पर जा पहुंचा है. बिहार प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हम के बाद अब कांग्रेस ने भी महागठबंधन से अलग होने के संकेत दे दिए हैं.
बिहार कांग्रेस ने बड़ा फैसला लेते हुए उपचुनाव में पांच सीटों पर अकेले किस्मत आजमाने का फैसला किया है. पार्टी के प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया है.

कांग्रेस के बिहार प्रभारी सचिव वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि पार्टी ने पांचों सीटों पर पैनल तैयार किया है. हमारे सभी कार्यकर्ता पूरे जोश में है. राठौर ने कहा कि कांग्रेस ड्राइविंग सीट पर ही रहेगी. राठौर ने कहा कि हमने  कुछ दिन भले ही दूसरे को ड्राइवर बना दिया था, लेकिन अब ऐसा नहीं है. पैनल से तैयार पांचों नाम कांग्रेस आलाकमान को भेजा गया है और अब आगे का स्वरूप आलाकमान ही तय करेगा