सोने की चिड़िया जैसी “भारत” की भारतीय सभ्यता और संस्कृति को धूमिल कर “पूंजीवाद” को बढ़ावा देगी “तेजस”

देश हमारी नजर
जनादेश न्यूज़
सेंट्रल डेस्क : भारतीय नागरिकों की ऐसी मान्यता है कि भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता है लेकिन सत्ता संरक्षित सफेदपोश आजकल इस सोने की चिड़िया को न जाने कहां धूमिल करने को तैयार हैं. ज्ञान,वैराग्य,मोक्ष,शक्ति जैसे हर सुख सुविधाओं से ओतप्रोत हमारा देश भारत आज उन सफेद पोशो के हाथ में अपनी सभ्यता और संस्कृति को भी धूमिल कर रही है.
जनता की गाढ़ी कमाई को देश के नेता पूंजीपतियों के हाथों में दे रहे हैं जिसका जीता जागता उदाहरण है “तेजस” पूंजीवाद को बढ़ावा देने के उद्देश्य से तेजस ट्रेन में महिलाओं के ऐसे वस्त्र भारतीय सभ्यता और संस्कृति को धूमिल करती है कि आखिर किसी घर की बहू बेटी अपनी संस्कृति को बेचकर उस पूंजीपति को ही पूंजीपति बनाने में लग गए हैं. भारतीय नारी होने के नाते कतई ऐसी सभ्यता और संस्कृति नहीं है.

विशेष तो आप समझ ही रहे होंगे कलम रुक जा रही है……