2005 में जमानत जब्त हो गयी थी भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल की, बेतिया से थे राजद के उम्मीदवार

बिहार राजनीति
जनादेश न्यूज़ बिहार
पटना : बिहार भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जयसवाल का भाजपा से ढाई दशक पुराना संबंध रहा है। पार्टी में कई पदों की जिम्मेवारी का निर्वाह कर चुके हैं और तीसरी बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए हैं। लेकिन अपने चुनावी कैरियर की शुरुआत उन्होंने लालू यादव के नेतृत्व वाले राजद से की थी।
संजय जयसवाल पहली बार फरवरी, 2005 में बेतिया विधान सभा क्षेत्र से राजद के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे थे। इस चुनाव में बेतिया से रेणु देवी निर्वाचित हुई थीं और संजय जयसवाल पांचवें स्थान पर थे। भारत निर्वाचन आयोग की साइट पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, भाजपा की रेणु देवी को 48559 वोट मिले थे और दूसरे स्थान पर निर्दलीय शमीम अख्तर को 37102 वोट मिले थे। पांचवें स्थान पर रहे राजद के संजय जयसवाल को 6979 मिले थे। वे अपनी जमानत भी गवां चुके थे। इस चुनाव में कुल 14 उम्मीदवार मैदान में थे।
उल्लेखनीय है कि 2004 के लोकसभा चुनाव में संजय जायसवाल के पिता मदन प्रसाद जायसवाल बेतिया से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे थे। वे लगातार तीन बार इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके थे। 2004 के चुनाव में राजद के रघुनाथ झा ने उन्हें पराजित किया था। रघुनाथ झा को 211590 वोट मिले थे, जबकि मदन जायसवाल को 186919 वोट मिले थे। 2008 में बेतिया लोकसभा क्षेत्र समाप्त हो गया और नया क्षेत्र पश्चिम चंपारण बना। 2009 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने पिता की जगह पुत्र संजय जयसवाल को उम्मीदवार बनाया और इस सीट वे तीसरी बार निर्वाचित हुए।